Latest News

प्रियाकान्तजू मंदिर पर कान्हा के जन्म पर खुशियां

udaybhoomi 4/9/2018/span> Technology

जगदीश समंदर : वृन्दावन : ठाकुर श्री प्रियाकान्तजू मंदिर पर श्रीकृष्णजन्माष्टमी महोत्सव हर्षोल्लास से मनाया गया. देश के विभिन्न स्थानों से आये हजारों श्रद्धालुओं ने कन्हैया के जन्म पर नाच-गाकर खुषियाँ मनायीं. भागवत प्रवक्ता देवकीनंदन ठाकुरजी महाराज के साथ भक्तों का सैलाब रात्रि 3 बजे तक कृष्णभक्ति के आनंद में गोते लगाता रहा. प्रियाकान्तजू मंदिर में राधा-कृष्ण विग्रह सोने के मुकुट और सोने की बंशी धारण कर सजीली पोशाक में भक्तों का मन मोह रहे थे. मंदिर गर्भगृह में चांदी का छत्र लगाया गया था. मध्यरात्रि ठीक 12 बजे कन्हैया के प्राकट्योत्सव पर देवकीनंदन महाराज और विप्रवरों ने मंगल श्लोकों और शंखनाद के बीच ठाकुरजी के लघुविग्रह का पंचाभिषेक किया. बाल-गोपालों ने मटकीफोड़ लीला ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया.
,   रात्रि 9 बजे मंदिर के सामने बने विशाल पण्डाल में देवकीनंदन महाराज, पदमश्री मोहनस्वरूप भाटिया एवं ट्रस्टीजनों ने दीप प्रज्ज्वलन कर महोत्सव की शुरूआत की. दिल्ली से आये कलाकारों ने शास्त्रीय संगीत पर कत्थक एवं भरतनाट्यम नृत्य प्रस्तुति दी. इसके पश्चात वन्दनाश्री ग्रुप के 21 से ज्यादा कलाकारों ने ब्रज के लोकगीतों के साथ राधा-कृष्ण भजनों पर शानदार प्रस्तुति से दशर्कों को रोमांचित कर दिया. मेरो छोटो सो लड्डू गोपाल, सखी री बड़ो प्यारो है...., मोर बन आयो रसिया...... गीतों पर भक्तों के पैर देर तक थिरकते रहे.
,   कृष्ण जन्म पर प्रियाकान्तजू मंदिर गर्भगृह के साथ महोत्सव पाण्डाल में भी विप्रवरों ने विग्रह का अभिषेक किया. भारी भीड़ में श्रद्धालुओं ने मोबायल की टॉर्च जलाकर बालरूप की आरती उतारी. इसके बाद पुनः भक्तिगीतों का प्रवाह शुरू हुआ. देवकीनंदन महाराज ने नंद के आनंद भये जय कन्हैया लाल की....... कोई पीवे संत सुजान, नाम रस मीठा है........ जियो श्याम लाला-2, पीली तेरी पगड़ी रंग काला...... जैसे गीतों से भगवान के प्राकट्योत्सव आनंद को दुगुना कर दिया. प्रातः मगला आरती तक क्रम चलता रहा.
,   इस अवसर पर विश्व शांति सेवा चैरीटेबल ट्रस्ट के सचिव विजय शर्मा, मीडिया प्रभारी जगदीश वर्मा, श्यामसुन्दर शर्मा, रवि रावत, विष्णु शर्मा, अरुणा श्रवण केसरी, सुधीर कुमार वर्मा, विक्रम सिंह राजपूत, सतीष गर्ग, अटल बिहारी गोयल, ज्ञानेन्द्र सिंह, एच.पी. अग्रवाल, जेपी सिंघल, राजेश सिंह, बिशन गुप्ता, आचार्य इन्द्रेश शरण, चन्द्रप्रकाश शर्मा, मंदिर सेवायत दिनेश शर्मा, गजेन्द्र सिंह आदि उपस्थित थे.
,  
,  

Related Post