Latest News

डांस ड्रामा और कवियों के वीर और हास्य रस ने बदली सांस्कृतिक संध्या की फिजा

udaybhoomi 16/12/2018/span> Technology

वैद्य पण्डित प्रमोद कौशिक : कुरुक्षेत्र : अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2018 में प्रसिद्ध कलाकार संगीता शर्मा और रंजू प्रसाद ने डांस ड्रामा तथा देश के विभिन्न राज्यों से आए वीर और हास्य रस के कवियों ने अपनी प्रस्तुति देकर सांस्कृतिक संध्या की फिजा बदलने का काम किया. इन कार्यक्रमों को सभी ने खुब सराहा.
,   शुक्रवार को देर सायं मेला क्षेत्र के मुख्य पांडाल में आसाम के राज्यपाल जगदीश मुखी, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद, विधायक डा. पवन सैनी, अतिरिक्त मुख्य सचिव डा. एसएस प्रसाद, उपायुक्त डा. एसएस फुलिया, पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र पाल सिंह, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा ने दीपशिखा प्रज्जवलित कर महोत्सव के दूसरे दिन के मुख्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का उदघाटन किया.
,   इस दौरान राज्यपाल जगदीश मुखी ने प्रसिद्ध कलाकार संगीता शर्मा, रंजू प्रसाद के साथ-साथ कवि हरिओम पंवार, अरुण जेमिनी, गजेन्द्र सोलंकी, डा. धुवेन्द्र, राधाकांत पांडे, ममता शर्मा, मनबीर शर्मा, जगबीर राठी को शॉल और समृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया.
,   महोत्सव की सांस्कृतिक संध्या के दूसरे दिन प्रसिद्ध कलाकार संगीता शर्मा ने डांस ड्रामा की प्रस्तुति देकर भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं को जीवंत करने का अनोखा प्रयास किया. इस को सभी ने खूब सराहा और तालियां बजाकर अभिवादन किया. कलाकार रंजू प्रसाद के डांस ड्रामा को भी सभी ने पसंद किया। इसके पश्चात हास्य और वीर रस के कवियों ने सांस्कृतिक संध्या के माहौल को बदलने का काम किया. इन कवियों ने वर्तमान परिवेश और समय पर भी कटाक्ष किया और समाज को देश सेवा करने का संदेश भी दिया. कवयित्री ममता शर्मा ने सरस्वती वंदना की प्रस्तुत की. इस मौके पर केडीबी के सीईओ संयम गर्ग, केडीबी सदस्य उपेन्द्र सिंघल, डा. मधुदीप, राजेन्द्र परासर और अन्य गणमान्य लोग तथा अधिकारीगण मौजूद थे.
,  

Related Post