Latest News

इंडियनऑयल उज्ज्वला योजना के अंतर्गत सभी को रसोई गैस उपलब्ध कराएगा

udaybhoomi 25/12/2018/span> Technology

एम के अवस्थी, डी जी एम, आयल इंडस्ट्री : मुम्बई : प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) के अंतर्गत लाभार्थी सूची को विस्तारित करने के आर्थिक मामलों पर कैबिनेट समिति (सीसीईए) की मंजूरी के बाद इंडियनऑयल ने देश भर के अपने प्रमुख अधिकारियों के साथ एक बैठक में सभी योग्य लाभार्थियों को आसानी से एलपीजी कनैक्शन प्रदान करने के लिए एक कार्ययोजना बनाई है. सभी राज्यों के वरिष्ठ इंडियन ऑयल अधिकारियों को संबोधित करते हुए गुरमीत सिंह, निदेशक (विपणन), इंडियनऑयल ने कहा कि ’’हमारा यह प्रयास होना चाहिए कि देश की प्रत्येक रसोई एलपीजी की आसान उपलब्धता के साथ धुआँ-मुक्त एवं बेहतर हो. हमारे सतत प्रयासों से देश में एलपीजी की पहुंच 1.4.2016 को 61.9 प्रतिशत से बढ़कर 1.12.18 को 89.5 प्रतिशत पहुंच गई है. अब हमारा उदेश्य पीएमयूवाई के अंतर्गत स्वच्छ कुकिंग ईंधन के रूप में पूरे देश में एलपीजी की पहुंच बढ़ाना और इसके सतत् उपयोग को बढ़ावा देना है.
,   श्री सिंह ने एलपीजी की बेहतर उपब्धता एवं इसके सतत् उपयोग हेतु पीएमयूवाई लाभार्थियों को 5 किग्रा. सिलेंडर उपलब्ध कराने पर भी जोर दिया. उन्होंने पीएमयूवाई लाभार्थियों द्वारा 1.4.2018 से लिये गये ब्याज मुक्त ऋण (स्टोव की खरीद एवं रिफिल) में 6 रिफिल तक या एक वर्ष, जो भी पहले हों, की वसूली में देरी के बारे में एलपीजी लाभार्थियों के बीच जागरूकता बढ़ाने पर भी जोर दिया. उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया कि एलपीजी वैकल्पिक ईंधनों जैसे गोबर की खाद, लकड़ी एवं कोयले की तुलना में काफी सस्ती है और इसके सामाजिक-आर्थिक लाभों का भी व्यापक प्रचार किया जाना चाहिए.
,   उन्होंने आगे कहा कि इंडियनऑयल देश के दूरस्थ क्षेत्रों में भी एलपीजी की आसान उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए अपेक्षित अवसंरचना के निर्माण में कोई कसर नहीं छोड़ेगा. पीएमयूवाई योजना के अंतर्गत अब तक 5.86 करोड़ से अधिक घरों को लाभ मिला है और इंडियनऑयल ने 2.75 करोड़ से अधिक एलपीजी कनेकशन बांटें हैं। संशोधित योजना से अब सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना (एसईसीसी) सूची या सात चयनित श्रेणियों अर्थात् अ.जा./अ.ज.जा. घरों, प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) (ग्रामीण) के लाभार्थियों, अत्योदय अन्न योजना (एएवाई), वनवासी, अति पिछड़े वर्गों (एमबीसी), चाय एवं पुराने चायबागानों के जनजातियों, द्वीपसमूह/नदी तटवर्ती निवासियों जो पहले इसमें शामिल नहीं हो पाये हैं, उन सभी गरीब परिवारों के घरों तक एलपीजी पहुंचेगी.
,   श्री सिंह ने कहा कि इंडियनऑयल योग्यता मानकों को पूरा करने वाले एवं अपेक्षित दस्तावेजों को प्रस्तुत पर भावी लाभार्थियों को एलपीजी कनेक्शन प्रदान करने के लिए खुली एवं पारदर्शी प्रणाली अपनाएगी. उन्होंने सभी फील्ड अधिकारियों को ऐसे ग्राहकों से सीधे सम्पर्क करने के निर्देश दिये जिससे अवांछित तत्वों द्वारा किये जाने वाले किसी भी भ्रष्टाचार की संभावना को समाप्त किया जा सकें.

Related Post