Latest News

पूर्व मंत्री विनोद शर्मा का भी योगदान है 10 प्रतिशत आरक्षण में : रोहित गौतम

udaybhoomi 10/1/2019/span> Technology

वैद्य पण्डित प्रमोद कौशिक : कुरुक्षेत्र : कुरुक्षेत्र में रोहित गौतम, प्रदेश अध्यक्ष ब्राह्मण महासंघ हरियाणा ने केंद्र सरकार द्वारा जो दस प्रतिशत आर्थिक आधार पर आरक्षण को लेकर घोषणा की गई है, उसको लेकर केंद्र सरकार का धन्यवाद जताया,और बताया की हरियाणा में बहुत सालों से आर्थिक आरक्षण की मांग उठाई जा रही थी जिसको वर्ष 2013 में पूर्व मंत्री विनोद शर्मा ने चार जातियों जिसमें ब्राह्मण, बनिया, पंजाबी, राजपूत को शामिल कर हरियाणा में लागू करवाने का काम किया था. एकमात्र हरियाणा में ही यह लागू किया गया.
वर्ष 2015 में ब्राह्मण महासंघ द्वारा आर्थिक आधार के आरक्षण की पैरवी के लिये महामहिम के नाम ज्ञापन दिया गया और सैंकड़ो जनसभाएं की गई, जिसके बाद कुछ लोगों द्वारा इसके खिलाफ षड्यंत्र भी रचा, जिसको लेकर पूर्व मंत्री विनोद शर्मा के नेतृत्व में ब्राह्मण महासंघ द्वारा, 2 जुलाई 2017 को पानीपत व 23 दिसंबर 2018 को पिपली में रोजगार अधिकार रैली का आयोजन कर सरकार से इस आरक्षण से कोई छेड़छाड़ न करने को लेकर मांग उठाई गई.
गौतम ने बताया कि मध्य प्रदेश राजस्थान ओर महाराष्ट्र मे सवर्णों द्वारा आर्थिक आधार पर आरक्षण को लेकर बहुत आंदोलन किये गए, जिसका प्रभाव अन्य लगते राज्यों में भी था.
वहीं अजय शर्मा ने बताया कि इस आरक्षण से हर जरूरतमन्द को लाभ मिलेगा. यह आरक्षण रोजगार के साथ साथ शिक्षा के क्षेत्र के लिए भी है, आज के समय में आम आदमी का अधिकतम खर्च शिक्षा और स्वास्थ्य पर होता है. इस आरक्षण में किसी अन्य वर्गों के आरक्षण से कोई छेड़छाड़ नही की गई है और संविधान के अनुच्छेद 15 ओर 16 के तहत इसमें संसोधन कर लागू किया जा रहा है
. बैठक में मौजूद राकेश शर्मा सुनेहड़ी ने बताया कि आर्थिक आधार के जो मानक दिए गए वो बिल्कुल सही है. यह आरक्षण मात्र रोजगार से संबंधित न हो के शिक्षा से संबंधित है और शिक्षा बहुत जरूरी है.
इस मौके पर पुरुषोत्तम शर्मा कमौदा, संजीव भारद्वाज ,गौरव सिंगला मौजूद रहे.

Related Post